आईपीओ (IPO) क्या है और इसमें इन्वेस्ट (INVEST) कैसे करें ?

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

अगर आप एक सफल निवेशक बनने की दिशा में अपने कदम को बढ़ा रहे हैं तो आपको यह जानना आवश्यक है कि IPO-Initial Public Offering क्या होता है क्या होता हैऔर कोई कंपनी क्यों IPO जनता के सामने प्रस्तुत करती हैं और उसे हम और आप जैसे आम आदमी को या एक आम निवेशक को कैसे लाभ मिल सकता है।

अब जब बात लाभ कि आई है तो आपके मन में यह सवाल जरूर उठ रहा होगा की IPO होता क्या है और इससे हमें किस प्रकार लाभ मिल सकता है और इससे जुड़ी अन्य जानकारियां पानी के लिए आपके मन में इच्छा जागृत हो रही होगी तो आइए हम आपको बताते हैं कि

आईपीओ (IPO-Initial Public Offering) क्या है?

जब भी कोई कंपनी अपने Share को पहली बार जनता के लिए क्रय विक्रय के लिए मार्केट में लाती है अर्थात कंपनी अपने शेयर को पहली बार सार्वजनिक रूप से जनता के सामने खरीदने का प्रस्ताव रखती है उसको IPO अर्थात Initial Public Offering कहा जाता है

जिसको आप सरल भाषा में सर्वजनिक प्रस्ताव भी कह सकते हैं इसी को अगर सरल शब्दों में कहा जाए तो जब भी कोई निजी कंपनी अपने आप को पब्लिक कंपनी में बदलना चाहती है तो उस दौरान उसको पूंजी की अत्यधिक आवश्यकता होती है।

उस आवश्यकता को पूर्ण करने के लिए वह कंपनी अपने शेयर स्कोर अर्थात अपने कंपनी की हिस्सेदारी को शेयर बाजार के आम निवेशकों के बीच प्रस्तुत करती है जिससे कि वह निवेशक अपनी पूंजी के बदले उस कंपनी की हिस्सेदारी खरीद सकें और उसको शेयर बाजार  मैं सरल तरीके से खरीद भेज कर सके और मुनाफा कमा सकें।

आईपीओ (IPO) से लाभ?

आईपीओ (IPO) क्या है और इसमें इन्वेस्ट (INVEST) कैसे करें ?

जब भी कोई निजी कंपनी अपने आप को इस मार्केट में सार्वजनिक रूप से प्रस्तावित करती हैं या फिर अपनी कंपनी का आईपीओ लाती है उस कंपनी को पूंजी एकत्रित करने के साथ साथ बहुत से अन्य प्रकार के लाभ होते हैं जिससे कि उस कंपनी की कार्य कुशलता में वृद्धि होती  है तो आई एम जानते हैं की आखिर आईपीओ लाने से कंपनियों को पूंजी एकत्रित करने के अलावा और कौन से विभिन्न प्रकार के लाभ होते हैं जैसे कि

  • आईपीओ लाने के उपरांत जब एक कंपनी किसी भी शेयर मार्केट में सूचीबद्ध हो जाती है तो वह कंपनी आधिकारिक  इशू (right issue) के द्वारा विस्तार के लिए पूंजी एकत्रित करने में सक्षम हो जाती है।
  • कंपनी के रजिस्टर होने के उपरांत किसी भी कंपनी के लिए अतिरिक्त पूंजी तक की पहुंच सस्ती और कंपनी के अनुरूप हो जाती है। 
  • निजी कंपनी के सर जी प्रस्ताव के बाद उस कंपनी  की तरलता में अत्यधिक लाभ होता है क्योंकि उस कंपनी को उसके उपयोग  के अनुसार या उससे अधिक पूंजी एकत्रित हो जाती है जिसके कारण उस कंपनी में तरलता का एक अच्छा स्वभाव देखा जा सकता है।
  • कंपनी के शेयर  बाजार में सार्वजनिक होने  से कंपनी की छवि और प्रतिष्ठा में बढ़ोतरी होती है जिससे कि कंपनी की  बिक्री और उसकी मार्केटिंग में एक अच्छा बदलाव देखा जा सकता है क्योंकि शेयर बाजार में लिस्ट होना ही उस कंपनी की एक उच्च क्वालिटी की एडवरटाइजिंग हो जाती है जिससे कि बाजार के लोगों और आम आदमी को उस कंपनी  पर एक भरोसा कायम होने लगता है।
  • कंपनी के शेयर बाजार में सार्वजनिक होने के उपरांत उस कंपनी को उसके शेयर के बदले कई तरीके के अतिरिक्त पूंजी स्त्रोत मिलाओ पहुंचता है जैसे कि उसको उसके शहर के स्थान पर  सस्ता  ऋण उपलब्ध हो जाता है। 

आईपीओ (IPO) से हानि ? 

आईपीओ (IPO) क्या है और इसमें इन्वेस्ट (INVEST) कैसे करें ?

 जिस प्रकार हर सिक्के के दो पहलू होते हैं उसी प्रकार किसी भी निजी कंपनी के लिए सार्वजनिक होने पर जैसे कई प्रकार के लाभों की अनुभूति होती है उसी प्रकार उस कंपनी के लिए कई प्रकार के जिस एम रुकावटें खेद या फिर हानि भी कह सकते हैं का सामना करना पड़ता है। 

लेकिन कहते हैं ना कि हर अच्छे काम को करने में कोई ना कोई कठिनाइयां आती जरूर है इसीलिए कठिनाइयों पर ध्यान ना दे कर हमेशा लक्ष्य पर ध्यान देना चाहिए तो आइए जान लेते है कि निजी कंपनी को सार्वजनिक होने के लिए किन कठिनाइयों और हानियों का सामना करना पड़ता है जिसमें से कुछ निम्नलिखित है

  • निजी कंपनियों के सामने पहली घटना यह आती है कि अब उन कंपनियों को अपने सारे दस्तावेजों को सार्वजनिक करना पड़ता है जैसे कि उन कंपनियों की मार्केटिंग लागत या फिर लेखा-जोखा हर प्रकार की वित्तीय और व्यवसायिक जानकारी को जनता के सम्मुख प्रस्तुत करना पड़ता है
  • Company कंपनी के सार्वजनिक होने पर कंपनी के प्रबंधन में प्रयास ध्यान और समय की बढ़ोतरी करना आवश्यक हो जाता है जिससे कि उस कंपनी की कार्यकुशलता उचित रूप से बनी रहे जिससे कि ना तो उस कंपनी को कोई नुकसान सहना पड़े और ना ही निवेशकों को कंपनी के लिस्ट होने पर या उससे पहले कंपनी की सूचना को सार्वजनिक करना आवश्यक होता है जो कि उस कंपनी के आपूर्तिकर्ताओं प्रतियोगियों और ग्राहकों के लिए काफी उपयोगी सिद्ध हो सकता है
  • नए शेयरधारकों के कारण कंपनी के प्रबंधन एजेंसी को कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है
  • कंपनी के सामने उसके शेयरधारकों के लिए जवाबदेही बढ़ जाती है

 

आईपीओ (IPO) लाने के की जरूरत कंपनी को क्यों पड़ती है ?

IPO किसी भी कंपनी को उसके भविष्य के लिए एक विस्तृत बाजार से निवेशकों के  द्वारा एक बड़ी मात्रा में पूंजी एकत्रित करने में मदद करते हैं अब आपके मन में यह सवाल आ रहा होगा कि किसी भी कंपनी के लिए पैसे उसकी शेयर के बदले मदद कैसे कहला सकता है। 

तो मैं आपको यह बता दूं कि कंपनी को अपने जीवनकाल के दौरान उस पूंजी को वापस नहीं करना पड़ता जोकि किसी भी कंपनी के लिए सबसे बड़ा फायदा है और और ना ही उन पैसों पर कोई ब्याज देना पड़ता है हालांकि मैं मान सकता हूं कि कंपनियां उस पूंजी पर डिविडेंड प्रदान करती हैं। 

लेकिन यह कंपनी के प्रस्ताव पर निर्भर करता है कि वह डिविडेंड प्रदान करना चाहती हैं या नहीं चाहते हैं यही कारण है कि कंपनियां फ्यूचर में भी अपनेअधिकारियों द्वारा अतिरिक्त धन या पूंजी भविष्य में भी एकत्रित कर सकती हैं और यह कंपनियों के लिए एक बहुत बड़ा लाभ का सौदा उपलब्ध हो सकता है यही कारण है जो कंपनियों को सूचीबद्ध होने के लिए प्रोत्साहित करता है। 

 

आईपीओ (IPO) में निवेश (Investment) कैसे करे ?

हर व्यक्ति को आज के समय में जल्द से जल्द अमीर और जल्द से जल्द ज्यादा पैसा कमाने की इच्छा अपने भीतर लेकर चलता है जो उसे कई गलत रास्तों  से रूबरू कराती है लेकिन अगर हर व्यक्ति में अनुशासन और धीरज हो तो हर व्यक्ति को एक ना एक दिन सफलता जरुर प्राप्त हो सकती है

लेकिन आजकल लोग अपने आपको कम और दूसरे लोगों को ज्यादा समझने की बहुत बड़ी भूल कर देते हैं ऐसे हीएक नया निवेशक जो कि अभी अभी मार्केट में उतरा है और जिसको मार्केट की पूरी समझ भी नहीं होती है वह भी आजकल या फिर हम कह सकते हैं कि आज के दौर में वह भी आईपीओ खरीदने की कोशिश कर रहा होता है

आईपीओ (IPO) एक नए निवेशक की नजर से ?

क्योंकि उसने या तो कहीं से यूट्यूब पर देख लिया होता है या फिर कहीं  कोई सलाह दे देता है कि आईपीओ से आप जल्द से जल्द अमीर या अच्छा पैसा कमा सकते हैं जिसके कारण कई नई इन्वेस्टर्स अपने पैसे को उस आईपीओ एलॉटमेंट के तुरंत बाद ही गवा सकते हैं। 

तो इसलिए मैं इन्वेस्टर्स अर्थात निवेशकों को इस बात का अत्यंत ध्यान रखना चाहिए कि सबसे पहले उनको मार्केट के बारे में  अपने ज्ञान को बढ़ाने में प्रयास करना चाहिए और बाजार के मूल नियमों सिद्धांतों कुछ जान लेना चाहिए और एक अच्छी रिसर्च खोज पर देख कहीं किसी भी कंपनी या आईपीओ में अपने पैसे को लगाना चाहिए

इसलिए किसी भी आईपीओ में पैसे  निवेश करने से पहले उस कंपनी के के बारे में अच्छे से जानकारी एकत्रित कर लेनी चाहिए और हमेशा इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि आपको जो समझ में आए उस कंपनी केआईपीओ या सियर्स को ही खरीदें हमेशा याद रखें। 

आप एक ऐसी कंपनी को खरीदने जिसको आप बड़े अच्छे से जानते हो जिस पर आपको अत्यधिक विश्वास हो जो मार्केट के डाउनफॉल में भी अपने आप को एक अधिक कंपनी के रूप में स्थापित कर सकने में सक्षम और आप उस कंपनी को मार्केट के उतार में भी होल्ड रखने में सक्षम रह सकें। 

आईपीओ (IPO) के खरीद के दौरान होने वाली कठिनाइयां ?

एक नए निवेशक को आए किसी भी कंपनी के आईपीओ खरीदने में बहुत सारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है जैसे कि उस कंपनी के बारे में उच्च  जानकारी ना होना और आईपीओ की सही परख  ना होना इसलिए किसी भी नए निवेशक को किसी भी कंपनी के आईपीओ में पैसे निवेश करने से पहले उस कंपनी के मूलभूत सिद्धांतों के बारे में जानकारी अवश्य उपलब्ध कर लेनी चाहिए। 

उस कंपनी  के पिछले 5 साल के कार्यकाल की बेहतर जानकारी उपलब्ध  कर लेनी चाहिए जिससे कि वह नया निवेशक उस कंपनी के भविष्य की कल्पना कर सके क्योंकि कोई भी नए निवेशक हमेशा किसी भी कंपनी के आईपीओ खरीदते समय यह अनुमान जरुर लगाता है। 

कि यह कंपनी भविष्य में उसको लाभ प्रदान करेगी इसलिए कंपनी के आईपीओ में निवेश करने से पहले उस निवेशक को उस कंपनी के Balance Sheet Prospectus Footnote scheme सिद्धांत बर्ताव और कस्टमर फीडबैक अवश्य मध्य नजर रखना चाहिए यह सारी जानकारी हम और आप जैसे निवेशकों के लिए एक अच्छी और मजबूत कंपनी के चयन में बहुत सहायता करेगी। 

क्योंकि आप एक शेयर बाजार में पैसा लगा रहे हैं ना कि किसी सट्टा बाजार में इसलिए आपके पास उस बाजार से जुड़ी हर प्रकार की जानकारी आप के अधीन होनी चाहिए क्योंकि कोई भी व्यक्ति कभी भी नहीं चाहेगा कि उसके पैसे किसी भी गलत निर्णय के कारण संकट में आ जाए इसलिए अपने निर्णय को सुनिश्चित और लाभकारी बनाएं। 

मुझे उम्मीद है कि आप को आईपीओ क्या है और कंपनी को इसे लाने की जरूरत क्यों पड़ती है समझ आ गया होगा अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो आप अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते हैं और ज्यादा से ज्यादा लोगों को इससे जुड़ी हुई जानकारी दे सकते हैं आशा है कि आपको यह ब्लॉक पोस्ट पसंद आया होगा। 

Contact Us-click hare

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.