Primary और Secondary Share का शेयर मार्किट से क्या संबंध है ? | Primary Or Secondary Shares Meaning In Hindi |

0

एक बार फिर हाज़िर हूँ आप सभी के साथ एक और विषय पर चर्चा करने के लिए तो आज हम एक और महत्वपूर्ण विषय के साथ उपस्थित है। जैसा की हमने पहले वाले विषय में चर्चा की थी की भारत के सबसे महंगे शेयर्स  कौन से है उसी कड़ी में आगे बढ़ते हुए आज का हमारा चर्चा का विषय  है Primary और secondary का शेयर मार्किट से क्या संबंध है, primary secondary meaning, secondary share meaning, secondary shares, secondary share market |

दोस्तों ये एक बोहोत ही महत्वपूर्ण विषय है है जिसके बारे में जानना हर उस व्यक्ति विशेष के लिए जरुरी है जो शेयर्स में निवेश करता है या फिर सोच रहा है ऐसा ही एक App है Grow ये आपको एक सफल निवेशक बनने में सहायता करेगा। 

और इसके बारे में जानने के लिए आप को इस ब्लॉग के साथ बने रहना होगा तभी आप इस विषय के बारे में जान पाएंगे तो अब बात बोहत हुई अब चलते है अपने विषय के ओर। 

Primary Market क्या होता है ?

  दोस्तों जब किसी भी कंपनी के द्वारा पहली बार स्टॉक एक्सचेंज के जरिए अपनी कुछ हिस्सेदारी बेचकर निवेशकों से रकम जुटाती है। 

तो उसे IPO पेश करना पड़ता है और इसे ही प्राइमरी मार्केट कहते है इसके लिए कंपनियों को यहां रजिस्ट्रेशन कराना पड़ता है इसके बाद शेयर आम जनता के खरीदने के लिए उपलब्ध हो जाते हैं स्टॉक एक्सचेंज (BSE ,NSE इत्यादि) पर लिस्ट होकर कंपनियां प्राइमरी मार्केट के जरिये निवेशकों तक पहुंच बनाती हैं। 

 दोस्तों अगर कोई कंपनी IPO लाना चाहती है तो उसे अपने वित्त, प्रमोटर, कारोबार, शेयरों की संख्या, उसकी कीमत आदि के बारे में जानकारी देनी होती है तब कही जा कर IPO लागु होता है और ये सभी किये बिना IPO लागु नहीं हो सकता है।

और देखा जाये तो प्राइमरी  मार्केट वह जगह है जहां सिक्यूरिटीज (प्रतिभूतियों) को अस्तित्व में लाया जाता है। 

एक पहचान दी जाती है और मार्किट से अवगत कराया जाता है। 

Secondary मार्किट क्या है?

दोस्तों यही हमने बात की थी Primary मार्किट के बारे में और उस से जुड़े कुछ तथ्यों को भी जाना था पर अब बारी है सेकेंडरी मार्किट के बारे में की क्या होता है सेकेंडरी मार्किट और इसकी भूमिका क्या रहती है तो आइए जानते है। 

 दोस्तों सेकेंडरी मार्केट (Secondary Market) वह होता है जहां निवेशक उन प्रतिभूतियों की खरीद और बिक्री करते हैं जिनपर उनका पहले से ही स्वामित्व होता है।

 इसी को अधिकांश लोग पारंपरिक रूप से ‘स्टॉक मार्केट‘ मानते हैं, हालांकि स्टॉक की बिक्री प्राथमिक मार्केट में भी होती है जहां पहली बार उन्हें जारी किया जाता है। 

इसकी को हम सेकेंडरी मार्किट के रूप में जानते है तो आशा करतका हों की आप समझ गए होंगे की सेकेंडरी मार्किट किसे कहा जाता है। 

आइए जानते है की सेकेंडरी मार्केट के कुछ लाभ क्या क्या है। 

 दोस्तों सेकडरी मार्किट में निवेशक अपनी तरलता की समस्या को आसानी से कम कर सकते हैं। जैसे, लिक्विड कैश की जरूरत वाला निवेशक काफी आसानी से रखे शेयरों को बेच सकता है क्योंकि सेकेंडरी मार्केट में बड़ी संख्या में खरीदार मौजूद हैं।

देखा जाए तो ये एक बोहोत ही बड़ी बात है और लाभ जो आपको भी मिल सकता है जब आप इन मार्किट में ट्रेड करेंगे और निवेश करेंगे क्युकी कहा जाता है न की पानी में कूदे बिना पानी की गहराई का पता नहीं चलता तो आपको अपनी लाइफ में हर एक चीज़ का अनुभव करना चाहिए। 

सेकंडरी मार्किट के कुक नुकसान भी बताए। 

Secondary Market में प्रतिभूतियों की कीमतें उच्च अस्थिरता के अधीन होती हैं, और इस तरह के मूल्य में उतार-चढ़ाव से निवेशकों को अचानक और अप्रत्याशित नुकसान हो सकता है।

इसलिए आपको किसी भीकम को करने से पहले उसके बारे में ाचे से जानकारी इकट्ठी कर लेनी चाहिए ताकि आप होने वाले लाभ या हानि का सही से आकलन कर सके। 

Primiary और secondary मार्किट में क्या अंतर है? 

दोस्तों अब आप जान चुके है की प्राइमरी मार्किट क्या है और सेकेंडरी मार्किट क्या है और मई जानता हूँ की आप ये जान्ने के लिए उत्सुक है की इनमे क्या अंतर है तो आइए जानते है। 

प्राइमरी मार्केट में नए शेयर और बांड जारी किए जाते हैं, जबकि सेकेंडरी मार्केट में पहले से जारी शेयरों और बांडों की बिक्री और खरीद होती है. यदि आप शेयर मार्केट में निवेश करना चाहते हैं तो आपको पहले प्राइमरी और सेकेंडरी मार्केट के बीच के अंतर को समझना होगा।

(निष्कर्ष)

मित्रो हम आशा करते है की आप सभी को  आज का विषय पसंद आया होगा और साथ ही कुछ नया रोचक और महत्वपूर्ण जानने को मिला होगा और आप ऐसे ही हमारे ब्लॉग कोअपना प्यार देंगे और हमारे साथ capitalgyan के साथ जुड़े रहेंगे और कमेंट्स के जरिये अपनी प्रतिक्रिया देते रहे ताकि आपकी बात हम तक पहुंच सके आप सभी के ज्ञान में ऐसेही बढ़ोतरी होते रहे ऐसे हम आशा करते है मिलते है एक और नए विषय के साथ तब तक के लिए अलविदा मित्रो और आपका धन्यवाद इस ब्लॉग को पढ़ने का। 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.