Foreign banks in India | (भारत में विदेशी बैंक की सूची?) | list of foreign banks in India [2022]

0

एक बार फिर से स्वागत है आपका अपने इस ब्लॉग Capital ज्ञान में और में आपका अपना दोस्त ॐ ले कर आ चूका हूँ। आपके लिए एक और बेहद ही रोचक और महत्वपूर्ण विषय जो आपके सामने प्रस्तुत है। आज हम  बात करने जा रहे है भारत में इस्थित विदेशी बैंको के बारे मे (Foreign Banks in India ), list of foreign banks in India

हां में जनता हूँ कीआप सभी रोज़मरहा के अपने व्यवस्थित जीवन में व्यस्त है। और आप में से कितने लोग शायद जानते भी नही  इसके बारे में तो आइये आपको रु -बा -रु करवाता हूँ। 

The First Bank of India ?(भारत का प्रथम बैंक कौन सा था ?)

यु तो आप सभी कई बैंको के बारे में जानते है पर क्या आप ये जानते है की भारत का सर्वप्रथम बैंक कौन  सा था। 

अगर नहीं तो चलिए हम देते है इस सवाल का जवाव भारत का सब से पहला बैंक (बैंक ऑफ़ हिंदुस्तान के नाम से शुरू किया गया था।)और उसकी स्थापना साल 1770 में हुई थी। 

और शायद आप ये बात जान कर हैरान हो सके है की आपका सबसे प्रसिद्ध बैंक (पंजाब नेशनल बैंक )भी उसी समय के आस पास है। 

जो आज तक आपकी सेवा में हाज़िर है। 

 भारत का प्रथम विदेशी बैंको कौन सा है?

आप ने ये तो जाना  की प्रथम भारतीय बैंक कौन सा था और अब बारी है ये जानने की के भारत का प्रथम विदेशी बैंक कौन सा था।

(HSBC)The Hongkong and shanghai Banking Corporation Limited था।

विदेशी बैंक आखिर किसे कहा जाता है?

सरल भाषा में कहा जाये तो जो वित्तीय संस्था या बैंक की भारत में शाखा होती है और किसी अन्य देश में कार्यालय उन्हें ही हम विदेशी बैंक कहते है। 

जो अपनी शाखाओ द्वारा किसी भी देश में लाभ अर्जित करे।  

How Many Foreign Banks in India ?(भारत में कितने विदेशी बैंक है ?)

आप को जान कर हैरानी हो सकती है की हमारे इस भारत देश में कुल 46 विदेशी बैंक मौजूदा समय में अपनी पकड़ बनाये हुए है जो की जरुरी भी है क्योकि इससे भारत की अर्थ व्यवथा में लाभ होता है। 

 भारत में विदेशी बैंको की सूची? (List of Foreign Banks in India?) 

[table “3” not found /]

(अनुसूचित और गैर -अनुसूचित बैंक किसे कहते है बताइये?)

हमारे इस भारत देश में दो प्रकार के बैंकिंग सेक्टर्स के बारे में हमेशा चर्चा होती रहती है। 

की अनुसूचित और गैर अनुसूचित बैंक क्या होते है इनमे क्या फर्क है तो चलिए।

मै आपको बताता चालू की अनुसूचित बैंक वो हो होते है जो आर- बी -आई अधिनियम सन 1934 के तहत द्वितीय अनुसूची अर्थात लिस्ट में शामिल हो उनको अनुसूचित बैंक्स की श्रेणी में रखा जाता और उन्हें ही अनुसूचित बैंक (scheduled Banks)  कहा जाता है। 

अब बाटवकरते है गैर अनुसूचित बैंक्स कोण होते है उस बारे में तो में  आपको बताना चाहूंगा की जिन बैंको को सूचि में शामिल नहीं किया जाता उन्हें ही हम गैर अनुसूचित बैंक कहते है यानि (Non scheduled Banks ) 

भारत में सभी बैंको को किस के द्वारा नियंत्रित किया जाता है ?

भारत में सभी बैंको को नियंत्रित करने के लिए एक मात्र वित्तीय संसथान है (RBI)। Reserve Bank of India

 यही एक मात्र संसथान है जो भारत में सभी मुद्रा सम्बन्धी विषय पर अपना नियंत्रण रखती है।

 भारतीय रिजर्व बैंक विभिन्न प्रकार से अन्य बैंकों की गतिविधि यों पर नजर रखता है <br> (i) बैंको को अपनी  कुल जमा राशि का 15 प्रतिशत भाग नकद के रूप में रखना पड़ता है। भारतीय रिजर्व बैंक देखता है कि क्या बैंक इतनी राशि नकद के रूप में रख रहे हैं या नहीं।

International Banking Day (अंतर्राष्ट्रीय बैंकिंग दिवस कब मनाया जाता है?

अब तक अपने जाना की विदेशी बैंक किसे कहते है और भारत में कितने विदेशी बैंक अपनी जगह बनाये हुए है। 

पर क्या आप ये जानते ही की अंतरास्ट्रीय बैंकिंग दिवस कब मनाया जाता है अगर नहीं तो चलिए हम बताते है आप सभी को। 

अंतरष्ट्रीय बैंकिंग दिवस 4 दिसंबर को मनाया जाता है।  

(FAQ ,S) 

भारत में सब से पहला विदेशी बैंक कौन सा था ?

भारत में सबसे पहला पहला विदेशी बैंक HSBC था। 

भारत में कुल कितने विदेशी बैंक है ?

भारत में कुल 46 विदेशी बैंक कार्यरत है। 

भारत के 3 सब से बड़े विदेशी बैंक कौन से है ?

  • City bank 
  • Standard chartered Bank 
  • HSBC Bank 

भारत में सबसे बड़ा विदेशी बैंक कौन सा है ?

भारत का सबसे बड़ा विदेशी बैंक Standard Charterd Bank है क्यों की भारत  बैंक शाखा अत्यधिक है। 

भारत में सब से पहला बैंक कोण सा है और उसकी स्थापना कब हुई थी ?

भारत का सब से पहला बैंक बैंक (ऑफ़ हिंदुस्तान था) जिसकी स्थापना सन 1770 में हुई थी। 

(निष्कर्ष)

हम आशा करते है की आपको इस महत्वपूर्ण विषय के बारे में अच्छे से विस्तृत रूप में समझ आया होगा और कुछ नया जरूर सिखने को मिले गए। 

अगर आप हमरे इस blog capital ज्ञान को पढ़ रहे है तो इसका अर्थ है की हमारे द्वारा किया गया प्रयास सफल सिद्ध हो रहा है। अगर हम से जुड़े रहना चाहते है तो हमारे blog चैनल को subscribe कर लीजिये। और अगर आप हमें कुछ सुझाव देना चाहे तो Email के जरिये हम तक अपनी बात रख सकते है। 

और कुछ गलती हुई तो शमा प्रार्थी हूँ आप सभी का धन्यवाद करता हूँ इस पोस्ट को पढ़ने के लिए। 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.