Mobile Banking क्या है ? | इसके प्रकार और फायदे

0

मोबाइल बैंकिंग( Mobile Banking) एक ऐसी महत्वपूर्ण सेवा है जो देश के बैंक या फिर कोई वित्तीय संस्था अपने-अपने ग्राहकों को प्रदान करती हैं। इस सेवा के अंतर्गत बैंक के ग्राहक अपने स्मार्टफोन, टैबलेट, लैपटॉप आदि पर मोबाइल बैंकिंग की सेवा ले सकते है। 

Mobile Banking की सबसे खास बात है इसका 24 घण्टे उपलब्ध होना। इसके लिए बस हमे एक स्मार्टफोन और सुरक्षित इंटरनेट सुविधा की ज़रूरत होती है। जैसे कि नाम से प्रतीत होता है मोबाइल पर बैंको की ज्यादातर सभी प्रकार की सेवाएं प्राप्त करना।

सरल भाषा में कहे तो अपने बैंक अपनी जेब मे लेकर घूमना पर सुरक्षा चिंता के कारण और सीमित बैंक गतिविधियों के चलते ये पूरी तरह से निर्भर नही किया जा सकता। मोबाईल बैकिंग से बहुत सी बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध है जिसके चलते पैसे और समय दोनों की बचत भी होती है।

ग्राहक कभी भी कहीं भी घर बैठे ही अपना अकाउंट बैलेंस कि जानकारी, किसी भी प्रकार के पैसे भेजना या प्राप्त करना, किसी भी प्रकार के बिल का भुगतान करना।

आज के आधुनिकरण मे मोबाइल बैंकिंग का लोग भरपूर फायदा उठा रहे हैं और क्यों नहीं जब यह डिजिटलाइजेशन (Digitalisation) के एक कदम और समीप ले आया जिससे कागजी कार्यवाही को कम कर दिया है,

कर्मचारियों के कार्य भार को कम कर दिया है क्योंकि बैंको में जाकर लंबी कतार में भी लगने की ज़रूरत नहीं है,जिससे समय और पैसे, दोनों की बचत हुई है।

मोबाईल बैकिंग के प्रकार

  • मोबाईल एप्लीकेशन (Mobile application) के द्वारा संचालित इसका मतलब ऐप डाउनलोड करके मोबाईल बैकिंग का प्रयोग करना। सभी बैंक अब अपने अपने व्यक्तिगत (personalised) ऐप जारी कर रहे है जहां से उनके ग्राहक बैंक की सभी सेवा प्राप्त कर सकते है। कोई भी लेन देन से लेकर  लोन के लिए अप्लाई करना,लोन संबंधी जानकारी प्राप्त करना हो या डेबिट/ क्रेडिट कार्ड जारी करवाना हो, या चाहे कहीं भी किसी प्रकार की स्कीम में पैसा लगाना होना मोबाइल ऐप पर सब उपलब्ध है।
  • एसएमएस (SMS) द्वारा Mobile Banking: इसके अंतर्गत बैंक सभी जानकारी अपने ग्राहकों को एसएमएस के द्वारा भेजता है। इसके लिए किसी चलित इंटरनेट सुविधा या स्मार्ट फोन की ज़रूरत नही है। यह बुनियादी सेवा है जिसे लगभग हर बैंक अपने ग्राहकों को प्रदान करता है। SMS के अंतर्गत हम बैंक से अपना बैलेंस विवरण, अपनी मिनी स्टेटमेंट, किसी चलित पेमेंट को रोकना आदि सेवा प्राप्त करते हैं। इससे बैंक अकाउंट सुरक्षा भी बढ़ती है क्योंकि कोई भी अनचाही बैंक गतिविधि जैसे कोई भी पेमेंट फ्रॉड हो, की तुरंत जानकारी हमे हमारे फोन पर उपलब हो जाती हैं।
  • असंरचित अनुपूरक सेवा डेटा (USSD) या Unstructured Supplementary Service Data (USSD): इसे असंचारित इसलिए कहा गया है क्योंकि अपने आप में अनूठी भुगतान *99#  सेवा है जिसके अंतर्गत कोड मैसेज से ही बैकिंग सेवा ले ले सकते हैं। खास बात ये है इसके अंतर बैंक अकाउंट निधि अंतरण (fund transfer), बैलेंस की जानकारी, मिनी स्टेटमेंट Mini Statement की जानकारी आदि सेवाएं प्राप्त कर सकते है। यह एसएमएस बैंकिंग से ज्यादा सुरक्षित है। फिलहाल *99#  सेवा देश के 51 बैंक प्रदान कर रहे हैं। हिंदी और अंग्रेजी दोनों माध्यम से यह मोबाईल पर उपलब्ध है।

मोबाईल बैंकिंग के फ़ायदे:

खाता संबंधी जानकारी:

मोबाईल पर ही बिना कहीं समय बर्बाद करे खाता संबंधी जानकारी प्राप्त कर सकते है। जिससे अकाउंट बैलेंस का सही विवरण मिलता है जिससे हम समय समय पर हमारे बचत और निवेश सम्बंधी जानकारी प्राप्त करते है। इसके साथ साथ लेन देन का हिसाब, ई कथन ( e-statement ), ऋण स्टेटमेंट, ई पासबुक जैसी आम जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

लेन देन की सेवा:

हर वक्त कहीं भी कैश लेकर घूमने की ज़रूरत नही है क्योंकि अब मोबाईल से ही पेमेंट कर सकते है। ये कई प्रकार से हो सकती है जैसे की

  •  बैंक से बैंक हस्तांतरण( bank to bank transfer) जिसका अर्थ एक बैंक से दूसरे बैंक अकाउंट में हस्तांतरण करना चेक के माध्यम से या फिर इलेक्ट्रॉनिक रूप से। चाहे वो समरूप बैंक हो या अन्य कोई बैंक।
  • अन्य तरह की पेमेंट जैसे की बिजली, पानी बिल भुगतान, शॉपिंग, होटल बिल पैमेंट भी चुकता कर सकते हैं।
  • सभी तरह की सेवाएं जैसे की नई चेक बुक जारी करना, अपनी बैंक गतिविधियों की जानकारी प्राप्त करना, किसी भी तरह की समस्या या परेशानी की शिकायत अपनी बैंक शाखा मे दर्ज करवाना।
  • अपना फोन नम्बर और एड्रेस समय समय पर अपडेट करवाना।

24×7 बैंकिंग सेवा:

आपके अपने फोन में बैकिंग सेवा उपलब्ध होना। यानी की किसी भी तरह की पेमेंट लेने और देने, कोई भी जानकारी प्राप्त करने के लिए बैंक जाने का इंतजार ना करना।

तत्काल लेनदेन की सेवा ही तो है जिसने मोबाईल बैकिंग को और भी ज्यादा आम आदमी के मध्य सफल कर दिया है।

मोबाईल बैकिंग को किस प्रकार से सफल और सेफ बनाएं:

  • सबसे पहले सिक्योर इंटरनेट कनेक्शन का होना।ओपन सोर्स नेटवर्क्स ( open source network) जैसे की WiFi का ना प्रयोग या सिर्फ निजी नटवर्क होने पर ही प्रयोग करना क्योंकि इससे बैंक संबंधी डाटा चोरी होने और गलत तरीके से इस्तेमाल होने का डर होता है।
  • बैंक की SMS या पुश मैसेज सेव का लाभ उठाना जिससे आपको आपके बैंक गतिविधि का पता चलता रहे
  • कभी भी किसी से भी अपनी बैंक की निजी जानकारी जैसे कि ATM पासवर्ड, वन टाइम लॉगिन पासवर्ड आदि सांझा ना करना।अपने मोबाईल बैकिंग ऐप के पासवर्ड को किसी से सांझा ना करना 
  • समय समय पर अपना KYC अपडेट करवाना जिससे मोबाइल बैंकिंग में किसी भी तरह के फ्रॉड से बचा जा सके।

आधुनिकरण ने एक छोटे से किसान और सब्जी बेचने वाले से लेकर एक बिजनेस पर्सन को बहुत बदल दिया है और Mobile Banking ने तो मानो सब काम आसान कर दिए है।

इसी के चलते UPI ऐप्स जैसे कि Google pay, Phone pay,Paytm भी इतने सफल हो रहे है आम आदमी के बीच। पर किसी भी प्रकार के धोखेबाजी से बचने के लिए समझदारी और होशियारी हमेशा बनाएं रखने की ज़रूरत है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.