Chai Sutta Bar Success Story (चाय सुट्टा बार)

1

नमस्कार दोस्तो, आज जी आर्टिकल मे आपका स्वागत है। आज हम बात करने वाले हैं एक बिल्कुल ही नये प्रकार के startup के बारे मे जो की आज भारतीय युवा के बीच अपनी अहम जगह बना चुका है।

यह तो हम सभी जानते हैं की भारतीय लोगों की जिंदगी का एक अहम हिस्सा है चाय। भारत मे लोगों को हष्ट पुष्ट और स्वस्थ रहने के लिए अगर किसी चीज़ की आवश्यकता है तो वोह है दिन मे कम से कम दो समय की चाय। लेकिन, यह चाय भी लोगो के इच्छा अनुसार अब कई प्रकार से पसंद की जाने लगी है।

किसी को अदरक वाली चाय पसंद आती है तो किसी को इलाईची वाली। किसी को कड़क तो किसी को फीकी। बस, भारतीय लोगों के चाय के प्रति इसी प्रेम को ध्यान मे रखते हुए भारतीय युवा लाया इस नये प्रकार के startup business को जो की उनकी सोच से भी कई ज्यादा नाम आज कमा चुका है।

तो आईये आज हम बात करते हैं चाय सुट्टा बार के बारे मे। इसे owner कौन हैं? किन बातों को ध्यान मे रखते हैं इसकी खोज हुई थी और कैसे यह सभी भारतियों के बीच केवल कुछ ही समय मे चर्चा का विषय भी बन गया।

अनुभव दुबे : Chai Sutta Bar

Chai Sutta Bar की शुरुआत की थी UPSC परीक्षा के एक असफल हैं युवा नौजवान ने, जिन्होंने की अपने जीवन मे कभी संघर्षो से हारना नही सीखा। इन्होंने यह बात जान ली की चाय दुनिया भर मे पिये जाने वाला सबसे पसंदीदा पदार्थ है।

भारत मे चाय के व्यापार के प्रति लोगों की सोच को देखकर और भापने के बावजूद यह इस व्यापार को एक नया रुख देने को त्यार थे और अपनी इस जंग मे यह पूरी तरह से सफल भी हुए। Anubhav Dubey ने लोगो को यह एहसास दिलाया की एक छोटे से चाय के व्यापार से भी वोह आसमान की उचाइयाँ छू सकते हैं।

आज वह देशभर मे उन सभी लोगो के लिए उधारण बन चुके हैं जो की जीवन मे कुछ बड़ा हासिल तो करना चाहते हैं मगर साथ ही इस असमंजस मे हैं की आखिर वह एक व्यापार की शुरुआत कैसे कर सकते हैं।

Anubhav Dubey ने अपने चाय के व्यापार की शुरुआत चाय के करीब 10 flavours से की थी। उस समय यानी की सन् 2016 मे जब इन्होंने अपना व्यापार चालू किया तब इनके पास अदरक, इलायची, चॉकलेट, गुलाब, पान, और केसर जैसे कुल 10 प्रकार के flavours की चाय हुआ करती थी।

इसके बाद लोगो ने इनको इतना पसंद किया की इनको अपने चाय सुट्टा बार की कई franchise निकालनी पड़ी। आज देशभर मे CHAI SUTTA BAR की करीब 200 outlets हैं औ इसकी केवल एक दिन की ही turnover करीब 30 लाख रुपये है।

नही चाहते थे अनुभव के पिता, उनक businessmen बनाना; ऐसे किया सपना सच:

दरसल अनुभव के पिता खुद भी एक बड़े businessman हैं। वह यह बात भली भाती जानते थे की खुद के business को चलाने मे कितनी मेहनत करनी पड़ती है और परेशानियों का सामना भी करना पड़ता है।

वह नही चाहते थे की Anubhav भी उनकी तरह ही यह सब करे। वह चाते थे की अनुभव अच्छे से पढाई करके किसी बड़े पद पर नौकरी करे। यही कारण था की अनुभव UPSC की परीक्षा की त्यारी मे जुट गए। परंतु परीक्षा की त्यारी के दौरान ही उनके मन मे चाय को लेकर यह विचित्र ख्याल आया।

उन्होंने सोचा की भारत की एक बड़ी संख्या मे लोग चाय व कॉफी पीना पसंद करते हैं। लेकिन भारत मे कही भी इसका व्यापार इतना सफल नही है। एक चाय के ठेले को कभी ना तो उतनी मेहत्वता दी जाती है और ना ही उनके व्यापार को बड़ा माना जाता है।

यही ध्यान मे रखते हुए अनुभव ने अपने पहले CHAI SUTTA BAR केoutlet की शुरुआत की इंदौर से जिसके बारे मे उन्होंने अपने पिता को भी नही बताया। केवल अपने एक व्यापारी दोस्त की सहायता से, उससे कुछ जानकारी और पैसों की मदद लेकर अनुभव ने पूरी तरह से अपने ही दम पर यह व्यापार स्थापित किया। यहाँ यह कई प्रकार की चाय बेचने लगे।

Anubhav की Marketing strategy:

अकसर ही लोग कोई business स्थापित करने के बाद इस कोशिश मे जुट जाते हैं की उनका business जल्द ही लोगों के बीच मशहूर हो जाए। इसके लिए हर कोई व्यक्ति अलग तरह से अपने business का प्रचार करता है। यह प्रचार का माध्यम टेलीविजन, अखबार, रेडियो, मौखिक या फिर advertisement के जरिये भी किया जा सकता है।

अनुभव ने चाय सुट्टा बार को लोगों तक पहुँचने के लिए एक अलग ही उपाय निकाला। उन्होंने अपनी दुकान girls hostel के बाहर खोली ताकि ज्यादा से ज्यादा लड़किया उनकी दुकान को देख सके और वहाँ आ सके। इसी के साथ साथ क्योंकि उनकी दुकान पर लड़किया होती तो लड़के भी उनका पीछा करते हुए वहातक पहुँच ही जाते।

जिसके चलते CHAI SUTTA BAR युवा पीढ़ी के बीच काफी पॉपुलर हो गया। इसके अलावा अनुभव ने अपने दोस्तो से कह कर अपने business का चर्चा इस प्रकार करवाया की लोगों ने उनकी franchise की डिमांड करनी शुरू करदी।

उनके दोस्त किसी भी भीड़ वाली जगह पर जाते और जोर जोर से Chai Sutta Bar के बारे मे ही बात करने लगते। इससे लोग chai sutta bar के बारे मे जानने लगे और ऐसे ही धीरे धीरे इनका business सफल हो गया। लोगो द्वारा CHAI SUTTA BAR की franchise मांगने पर अनुभव ने अपनी UPSC की त्यारी रोक दी

और अपना पूरा ध्यान अपने business को और बेहतर बनाने मे लगाने लगे। आज भी देशभर मे Chai Sutta Bar की franchise की बहुत डिमांड है पर इसके लिए इनके अपने कुछ नियम व कानून हैं जिनको मानना अनिवार्य है।

आप चाहे तो online chai sutta bar की franchise लेने के लिए इनकी वेबसाइट पर appeal डाल सकते हैं। यहाँ आपसे कुछ जरूरी जानकारी ली जायेगी जिसके बाद कंपनी आपसे call पर जुड़ेगी और सारी जानकारी देगी।

निष्कर्ष:

आज हमने चाय सट्टा बार के बारे मे जाना। यदि आप इसके बारे मे और जानना चाहते हैं या इसकी franchise कैसे लेनी है यह जानना चाहते हैं तो अवश्य ही हमे कॉमेंट करके बताये। हम इस विषय पर आर्टिकल जल्द ही लिखेंगे। अन्य जानकारी के लिए visit करे हमारी वेबसाइट- www.capitalgyan.com

धन्यवाद!

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

1 Comment
  1. Ankit Roy says

    Kafi Khubsurat Article Hai… Padha Kar Maza Aa Gya

Leave A Reply

Your email address will not be published.