Bonds क्या है | इसमें कैसे करे Invest?

0

नमस्कार दोस्तो, तो दोस्तों आज हम जानेंगे Bonds के बारे में की Bonds क्या है, bonds meaning in hindi, bonds meaning, bonds type और bonds government के बारे में

जैसा की हम सभी जानते हैं की आजकल महंगाई कितनी बढ़ चुकी है और जिस दर के साथ यह तेजाई से बढ़ती जा रही है, आने वाले समय मे यह और कितनी तेज़ बढ़ जायेगी।

इसलिए इस वक़्त पर हमारे लिए सबसे बड़ा चिंता का विषय यह है की अपनी मेहनत की कमाई को कहाँ और कैसे इंवेस्ट करें की भविष्य मे हमे कोई भी बड़ा कार्य करने मे किसी भी प्रकार की आर्थिक परेशानी का सामना ना करना पड़े।

यह बात तो सब ही जानते हैं की आजकल लोग बैंक को सबसे ज्यादा सुरक्षित मानते हैं, विभिन्न प्रकार के बैंक अकाउंट- RD, FD, Mutual Funds और PPF जैसे खातों को खोलने पर विश्वास रखते हैं।

पर क्या आप बॉन्डस के बारे मे जानते हैं? अगर नही, तो चलिए आज हम बॉन्डस के बारे मे जानेंगे। आख़िर यह क्या है, किस तरीके से इसमे हम इंवेस्ट करें और बाकी बैंक खातो के मुकाबले इसके क्या फायदे हैं। 

क्या है बॉन्डस? (What is bond?) 

Bonds meaning in hindi

दरसल, बॉन्ड एक समझौता (agreement) है, जिसके तहत आपको बॉन्ड जारी करने वाली पार्टी को, चाहे वो private हो या खुद सरकारी बैंक, अपने पैसे जमा करने होते हैं।

एक बार पैसे जमा करने के बाद, वो पार्टी आपको एक पत्र देती है जिसमे की आपके द्वारा निवेश की गयी रकम और बॉन्ड की अवधि लिखी होती है।

इसी रकम पर आपको प्रत्येक वर्ष ब्याज के रूप मे मिलता है, जो की बॉन्ड अवधि के अंत मे आपको एक साथ दिया जाता है।

यदि गौर किया जाए तो Bonds भी स्टॉक मार्केट के शेयर्स की तरह है जो की जारी करने वाली पार्टी अपने फायदे के लिए इस्तेमाल करती है और बदले मे हर साल एक फ़िक्सद् रेट ऑफ इंटरेस्ट देती है।

लेकिन शेयर्स के मुकाबले इसके काफी  ज्यादा फायदे हैं, आईये जानते हैं वोह क्या हैं। 

क्यों करें बॉन्डस में निवेश? (Why to invest in bonds?) 

  1. एक अच्छी खासी वजह जिसके चलते लोग बोंड्स मे  इंवेस्ट करना बेहतर और सेफ मानते हैं, है- बोंड्स पर बयाज दर अधिक होता है जिससे की बॉन्ड की अवधि समाप्त होने पर आपको बाकी संस्था या बैंक के मुकाबले अधिक रकम वापस मिलती है। 
  2. बॉन्ड मे निवेश करने से आपका प्रिंसिपल अमाउंट सेफ रहता है। आपको ब्याज के साथ साथ ही अपना सारा पैसा पूरा वापिस हो जाता है जो की कई बार शेयर्स मे इंवेस्ट करने से डूबने का डर रहता है। 
  3. आजकल हर भारतीय की शिकायत है यह भारी टैक्स जिससे की सब राहत चाहते हैं। बॉन्ड मे इंवेस्ट करने का एक फ़ायदा ये भी है की इसमे निवेश करने पर आपको सबसे कम टैक्स देना होता है जो की काफी लोगो को इसमे इंवेस्ट करने के लिए मजबूर कर देता है। 
  4. एक बार बॉन्ड मे इंवेस्ट करने के बाद आपको रिस्क लेने की कोई जरूरत नही। बॉन्ड एक निश्चित रूप से कभी ना डूबने वाली आपकी कमाई है जिसके लिए आपको चिंता नही लेनी होती आपको पैसा मिलट ही मिलता है। 

कौनसे बॉन्ड मे करे निवेश? (Which bond should we invest in?) 

बॉन्डस मे निवेश करने के दो मुख्य तरीके हैं। या तो आप सरकारी बॉन्डस मे निवेश करें या फिर कंपनी के बोंड्स मे। सरकार बोंड्स इसलिए जारी करती है

ताकी वो आपके द्वारा निवेश किये गए इस पैसे को आम जनता की भलाई मे इस्तेमाल होने वाले फंड को generate करने के लिए इस्तेमाल कर सके।

वही दूसरी ओर कंपनी बोंड्स जारी करती है अपनी कैपिटल पूरी करने के लिए। अधिकतर लोग सरकारी बोंड्स मे पैसा निवेश करना अधित उचित मानते हैं क्योंकि यहाँ हमारे पैसे डूबने की कोई गुंजाइश नही होती है।

वही दूसरी ओर कंपनी के शेयर्स लेने मे कोई बुराई नही है लेकिन इसपर विश्वास आँख बंद करके नही किया जा सकता। कंपनी के बोंड्स मे निवेश करने के लिए आपको पहले कंपनी को अच्छे से जानना होगा

जिसके लिए आप कंपनी का पोर्टफोलियो देख सकते हैं। यदि आप नही जानते की पोर्टफोलियो क्या है तो हमारी website www.capitalgyaan.in पर पोर्टफोलियो के बारे मे जान सकते हैं। 

कैसे करें बोंड्स मे निवेश? (How to invest in bonds?) 

बॉन्ड मे निवेश करने के दो तरीके हो सकते हैं। या तो online घर बैठे फोन से ही इंटरनेट के द्वारा निवेश के लिए apply किया जाए या फिर जिस भी कंपनी मे निवेश करना है उसके हेडओफिस मे जाकर बॉन्ड मे इंवेस्ट करने की बात की जाए। 

सरकारी बॉन्ड मे निवेश:

सरकारी बॉन्ड सरकार द्वारा जारी किये जाते हैं इसलिए इसमे रिस्क सबसे कम होता है। सरकार को जब आम जनता की भलाई के लिए पैसा इकाट्ठा करना होता है तब वोह बोंड्स जारी करती है और फंड कॉलेक्ट करती है।

यह फंड जमा हो जाने के बाद, सरकार इसकी जानकारी RBI के साथ रख देती है जहाँ यह सेफ रहता है और आपको प्रत्येक वर्ष केवल ब्याज दिया जाता है। एक बार आपके बॉन्ड की maturity date पूरी हो जाने पर आपको आपके पूरे पैसे भी वापिस मिल जाते हैं। 

वर्तमान मे कुल 10 साल या उससे ज्यादा के समय अंतराल के बॉन्ड पर करीब 7 प्रतिशत का ब्याज हर साल दिया जाता है। 

सरकारी बॉन्ड मे निवेश करने के तीन तरीके हैं:

  1. GILT MUTUAL FUND
  2. RBI RETAIL DIRECT SCHEME
  3. DIRECT INVESTMENT

निष्कर्ष: 

हमने इस आर्टिकल मे यह जना की बॉन्ड क्या है और किस तरह से हम बॉन्ड मे इंवेस्ट कर सकते हैं। आर्टिकल के अनुसार हम इस निष्कर्ष पर पहुँचते हैं की सरकारी बॉन्ड और कंपनी के बॉन्ड दोनो ही अपनी जगह अच्छे और उचित हैं।

परंतु यदि आप चाहते हैं की आपका पैसा भविष्य मे कही डूबे ना और सुरक्षित रहे तो आप या तो सरकारी बोंड्स मे निवेश करें या फिर कंपनी का पोर्टफोलियो देखकर और अच्छे से उसकी हिस्ट्री जानकर ही निवेश करें। 

धन्यवाद। 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.