Portfolio Meaning in Hindi : ऐसे समझे कंपनी की वित्तीय स्थिति (Financial Position)

0

अगर आप भी उनमे से हैं जो की Share market में पैसा लगाने के बारे मे सोच रहे हैं तो आपके लिए पोर्टफोलियो क्या है यह जानना अत्यंत आवश्यक है। आज हम portfolio meaning in hindi इसी विषय पर बात करने वाले हैं तो इस लेख को आखिर तक ज़रूर पढ़ें।

आपने सेविंग्स का नाम तो सुना ही होगा। हो सकता है की Investment के बारे में भी आप कुछ न कुछ जानते हों। पर, क्या आप दोनों के बीच का फर्क जानते हैं। अगर नही, तो आईये, पहले हम आपको सेविंग्स और इंटवेस्मेंट् क्या है यह बता दें।

सेविंग्स और इंवेस्मेंट् में अंतर (Difference between Saving or Investment )

अब आप लोग सोच रहे होंगे की सेविंग या इंवेस्मेंट् का आख़िर portfolio से क्या लेना देना। तो दोस्तों, आईये जानते हैं इंवेस्मेंट् और पोर्टफोलियो का कनेक्शन, इसके लिए पहले सेविंग और इंवेस्मेंट् में फ़र्क समझना बेहद जरूरी है। 

Saving– इसका अर्थ होता है बचत करना यानी की पैसों को खर्च ही ना करना। ध्यान रहे, यह वह पैसा है जो आपके पास ही है और आपको इसपर कोई ब्याज नही मिलने वाला है। 

Investment– दोस्तों, यहाँ पर ध्यान दें, हममें से कई लोग ऐसे हैं जो इसको भी सेविंग की तरह ना खर्च किये जाने वाला पैसा समझ लेते हैं, जो की गलत है।

इसका अर्थ है, वह पैसा जो खर्च किया जा चुका है पर इसका लाभ हमें आने वाले कल मे होगा। कंपनी के शेयर्स में लगाया जाने वाला पैसा इंवेस्मेंट् है ना की सेविंग्स, तो इसका लाभ हमें भविष्य में होगा और इसी लाभ का अनुमान लगाने के लिए कंपनी portfolio जारी करती है।

आइये हम जाने की पोर्टफोलियो का अर्थ क्या है। 

पोर्टफोलियो क्या है? (Portfolio meaning in hindi) 

Portfolio Meaning  in Hindi : ऐसे समझे कंपनी की वित्तीय स्थिति (Financial Position)

Portfolio meaning in hindi : portfolio एक प्रकार का कानूनी काग़ज होता है जिसमे कंपनी की जरूरी डिटेल्स जैसे की कंपनी में मौजूद असेट्स, सोना, कंपनी की लाइबिलिटिस्, कर्जदारो के नाम, कंपनी द्वारा इशु किये गए शेयर्स और अन्य आवश्यक सूचना लिखी होती है।

पोर्टफोलियो बाहरी लोगों व संस्थाओ को कंपनी की वित्तीय स्थिति का अनुमान लगाने मे सहायक होता है और इसको देखकर कोई भी आम नागरिक भी यह जान सकता है की उसे किसी Company में इंवेस्ट् करना चाहिए या फिर नही।

कहा से देखेंगे कंपनी का पोर्टफोलियो? (How to find portfolio of the company ?)

कंपनी अपना पोर्टफोलियो अनेको वेबसीटेस् और वार्षिक किताबों में लागू करती है, जहा से उसे कोई भी आसानी से देख सकता है और यदि आप किसी कंपनी के पोर्टफोलियो की detailed study कर रहे हैं तो आपको कंपनी में चल रही सभी क्रियाओं को गौर से समझना होगा। 

सबसे पहले यह जानना आवश्यक है की वह Company किस सामान का या सेवा का व्यापार कर रही है (the goods or services the company is dealing in)

इसके बाद कंपनी की वार्षिक और अर्ध्वार्शिक् वितत्य विवरण (balance sheet) की स्टडी करें और फिर कंपनी द्वारा अपनाई गयी नई योजनाओ, तकनीको या सेवाओं को ध्यान में रखते हुए कंपनी के portfolio का निर्माण करना होता है,

जो की एक Account का काम होता है। और फिर यही पोर्टफोलियो जनता और मार्केट तक पहुँचता है। 

पोर्टफोलियो और शेयर मार्केट: ( Portfolio or Share Market )

अब क्योंकि हम यह जा चुके हैं की पोर्टफोलियो क्या है और इसको कैसे बनाया जाता है तो अब हमारे मन में यह सवाल उठता है की आखिर इस पोर्टफोलियो का शेयर मार्केट से क्या कनेक्शन है?

तो आईये हम आपको यह बता दें की पोर्टफोलियो का इस्तेमाल शेयर मार्केट में कहा होता है। 

दरसल, पोर्टफोलियो का निर्माण Share Market को समझने के लिए ही किया जाता है। क्योंकि शेयर मार्केट में अनेकों छोटे व बड़े लोग अपना पैसा लगाने आते हैं।

काफी अच्छी कंपनिया होते हुए उन्हे किस एक को नियुक्त कर उसमे अपने पैसें लगाने होते हैं। तो उनके लिए यह जानना आवश्यक होता है की कोनसी कंपनी में इंवेस्ट् करने से उन्हे सबसे ज्यादा मुनाफा होगा।

इसी बात को ध्यान मे रखते हुए कंपनिया अपना अपना पोर्टफोलियो जारी करती हैं जिसमे की उसके द्वारा हासिल की गयी पिछली सभी विशेषताएँ और उसकी आर्थिक स्तिथि दर्शाती है।

इससे निवेशको को यह सोचने में आसानी होती है की उन्हे किस संस्था या कंपनी में निवेश करना है। 

पोर्टफोलियो के प्रकार: ( type of Portfolio )

portfolio विभिन्न प्रकार के होते हैं, जिनमे से कुछ यह हैं: 

  • अग्रेसिव पोर्टफोलियो (aggressive portfolio) 
  • रक्ष्यत्मक पोर्टफोलियो (defensive portfolio) 
  • इन्कम पोर्टफोलियो (income portfolio) 
  • ग्रोथ पोर्टफोलियो (growth portfolio) 
  • वैल्यू पोर्टफोलियो (value portfolio) 
  • सट्टा पोर्टफोलियो (speculative portfolio) 
  • हैब्रिड पोर्टफोलियो (hybrid portfolio

निष्कर्ष: (conclusion)

हमने जाना की पोर्टफोलियो क्या है, कंपनी का portfolio कैसे जाने,  पोर्टफोलियो और शेयर मार्केट का आपस में क्या संबंध है और portfolio के क्या-क्या प्रकार हैं। उम्मीद है की आपको portfolio से संबंधित यह जानकारी सहायक लगी होगी। 

धन्यवाद। 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.