Meaning Of Cost Accounting in Hindi | Cost Accounting क्या है? [2022]

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

आप सभी को मेरा प्यार भरा नमस्कार कैसे है आप सभी आशा करता हूँ की हमेशा की तरह एकदम स्वस्थ और खुशहाल होंगे तो आज हम बात करने जा रहे है। meaning of cost Accounting in Hindi, Cost Accounting क्या है? के बारे में पिछले विषय में हमने इसका थोड़ा जिक्र किया था,और इस भाग में हम आप को विस्तार से बताते है इसके बारे में। 

Cost Accounting को हिंदी में क्या कहा जाता है? (Cost Accounting in Hindi)

जैसा की आप पढ़ कर ही समझ पा रहे होंगे की हम किस बारे में बात कर रहे है cost accounting को  हिंदी शब्दावली के अनुसार लगत लेखांकन कहा जाता है।  

Introduction Of Cost Accounting लगत लेखांकन का परिचय? 

शुरुआती दौर में Accounting सिर्फ आपके कारोबार आपके व्यापार के अदन प्रदान को एकत्र करने अर्थात record करने के लिए इस्तेमाल की जाती थी और उसी आधार पर परिणाम को लाभ और हानि लेखांकन यानि Profit and loss Account में और balance sheet में प्रस्तुत किया जाता था जिसे हम Financial Accounting कहते है। 

इस की सहायता से कारोबार में हम दो चीजो का पाता आसानी से कर सकते है हमारा लाभ और हानि यानि profit और loss. 

और दूसरा हम balance sheet की सहायता से ये पता कर सकते है अपनी आर्थिक इस्थिति यानि financial position कुछ काल बाद ये अहसास हुआ की अगर किसी कंपनी जो कोई सामान बनाने और तैयार करने का काम कर  रही है उसे उसका लगत विश्लेषण करना भी उतना ही आवश्यक है। 

आसान भाषा में कहु तो जो कंपनी कोई सामग्री का निर्माण कर रही है उसे ये भी पता करना जरूरी है की उस सामग्री को बनाने में उस निर्माता कंपनी को कितनी लगत लगी

क्योकि ये बात सबसे  महत्वपूर्ण है की उसकी calculation कैसे की जाये उसे नियंत्रित कैसे किया जाये और लगत विश्लेषण करना संबसे ज्यादा महत्व रखता है। 

और सरलता से आपको  कहु तो ये कह सकते है की Cost Accounting वो जरिया है जिसके जरिये हम आसानी से पता  कर सकते है की किस सामान को बनाने में क्या क्या सामान लगा है ,और उसे बनाने में जो मजदुर लगे है उनकी क्या लगत है। 

और क्या क्या खर्चा हो रहा है इन सब से हमें ये पता चलता है की किस चीज़ में कितनी लगत लगा रहे है और जो भी फ़िज़ूल खर्ची हो रही होगी उसे हम कैसे नियंत्रित करे इसे ही हम अंग्रेजी में Cost Controlling भी कहते है। 

Meaning Of Cost Accounting in Hindi | Cost Accounting क्या है? [2022]
Meaning Of Cost Accounting in Hindi | Cost Accounting क्या है?

Cost Accounting की आवश्यकता क्यों है? (Why is Cost Accounting required?)

अगर आप एक कारोबारी है तो आप यही चाहते होंगे किआप जो भी कारोबार कर रहे उसे लम्बे समय तक ले जाये और हमेशा अच्छा मुनाफा कमाए तो ये लगत को समझना आपके लिए जरूरी होगा। 

आप जो भी सामान बना रहे है उसमे कितनी लगत लग रही है और आप उसे कैसे काम कर  सकते है और आप उस सामान को बनाने में कितन बचा पा रहे है। और आने वाले भविस्य में आपका सामान  सामान ठीक होगा या नहीं जैसे की मान लेते है। 

की आप कोई product बना रहे है जिसकी लगत आपके budget से बहार चली गई  है तो इस अवस्था में आप को अपने सामान का मूल्य बढ़ा कर लगाना होगा

जिससे हो सकता है की आपको भारी नुक्सान हो इसका एक कारण ये भी है की market में सामान product सस्ते दामों पर उपलब्ध है।  

और लोग उन्ही चीज़ो को खरीदते है जो काम दाम की हो। 

ये वो कारगर तरीका है जो cost की तकनीक समझने में सहायक है ये उन नियमो और principal के अनुसार होती है जो आपके न सिर्फ काम पूरा होने पर बल्कि अगर किसी कारन वाश आपका काम  छूट गया है

तो उस परिस्थिति में भी आप किसी सामग्री product की लगत का पता करने में सक्षम है। 

Benefit of Cost Accounting? (लगत लेखांकन के लाभ?)

आज के इस व्यस्थ जीवन में लेखांकन की उपयोगिता और उसका महत्व में जाती देखि जा सकती है शायद उस से कोई भी अछूता नहीं है

लगत लेखांकन से उत्पादकों प्रबंधको कर्मचारियों और उपभोगता तथा सरकाए के अतिरिक्त आने वाले सभी वर्गों को लाभ प्राप्त होता है इसके अतिरिक्त कुछ और लाभ है जो मई आपको बतने जा रहे है।

1 प्रबंधक और उत्पादक को लाभ 

(क)उत्पादन के क्षेत्र में होने वाले लाभ 

(ख) सत्ता के क्षेत्र में होने वाले लाभ  

(ग)सामाजिक स्तर पर होने वाले लाभ इत्यादि। 

Difference Between Cost Accounting and Management Accounting?

Cost Accounting accounting की वो  जड़ है जिसका उद्देश्य कारोबार के लाभ और उसकी सक्षमता को बढ़ने की डोर उसे काबू करने के लिए सभी जानकाऋ उत्पन होती है यही कारन है की हम इसे cost controlling Accounting भी कहा जाता है। 

और ठीक उसके दूसरे तरफ management accounting लेखांकन का एक प्रकार है। 

जो आपको कोई सामान प्रबंध करने और किसी प्रकार की व्यापारिक योजना बनाने या उस से जुड़े सभी प्रकार के फैसले लेने में सहायता करता है।

Method of Cost Accounting ?

  • इकाई लगत पद्धति (unity costing  method )
  • समूह लगत पद्धति (Batch costing method )
  • उपकरया लगत पद्धति (job costing method )
  • ठेका लगत पद्धति (contract costing method )
  • प्रक्रिया पद्धति (process costing method )
  • परिचालन पद्धति (operating cost method )  

(निष्कर्ष)

आशा करता हूँ की में इस post के माध्यम से आप सभी को समझा पाया हु की Cost Accounting क्या है और हमें इसकी आवश्यकता क्यों है आपको हमारे इस पोस्ट के द्वारा कुछ नया और informative सिखने को हमेशा मिलते रहे यही हमारा प्रयास है

अगर आप हमें कुछ सुझाव देना है या आपको लगे क हमारे इस पोस्ट में कुछ खामिया है तो आप हमें Email के मध्यम से बता सकते है और हम से जुड़े रहने के लिए आपके अपने इस blog channel Capital ज्ञान को subscribe करे जिसके माध्यम से आप हमसे जुड़े रहे। 

धन्यवाद मित्रो 

(FAQ ,S)

(1) लेखांकन का क्या कार्य है?

लेखात्मक कार्य (Recordative Function) : लेखांकन का यह आधारभूत कार्य है। इस कार्य के अन्तर्गत व्यवसाय की प्रारम्भिक पुस्तकों में क्रमबद्ध लेखे करना, उनकों उपयुक्त खातों में वर्गीकृत करना अर्थात उनसे खाते तैयार करना और तलपट बनाने के कार्य शामिल हैं।

(2) लेखांकन का जनक कौन है?

साइमन कुजनेट्स अमेरिका के प्रसिद्ध अर्थशास्त्री थे, जिन्हें राष्ट्रीय आय लेखांकन के जनक के तौर पर जाना जाता है। 

(3) शाखा खाता का अर्थ

दूसरे शब्दों में, शाखा खाते के अन्तर्गत शाखाओं से सम्बन्धित व्यवहारों का उल्लेख प्रधान कार्यालय एवं शाखा कार्यालय की पुस्तकों में किया जाता है ताकि एक निश्चित अवधि में प्रत्येक शाखा की लाभ-हानि के साथ ही वित्तीय स्थिति ज्ञात की जा सके।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.