Bitcoin क्या है कैसे काम करता है और इसमें इन्वेस्टमेंट कैसे करे ?

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सब आपके दिमाग में कहीं ना कहीं यह सवाल जरूर उठ रहा होगा कि Bitcoin क्या है इसका इस्तेमाल कैसे होता है और क्यों किया जाता है और इस करेंसी की वैल्यू कितनी होती है

दोस्तों दुनिया के हर देश के पास अपनी Currency है जिसका इस्तेमाल सामान खरीदने लिए किया जाता है हर देश की करेंसी अलग-अलग होती है और उसका अपना नाम होता है और उसका Value भी देश के हिसाब से होता है उस देश के हिसाब से रखा जाता है। 

जैसे भारत में लेनदेन के लिए जिस करेंसी का उपयोग होता है उसे रुपया कहते हैं अमेरिका की Currency Doller है होती है यूके की करेंसी पाउंड होती है तो उसी तरह अलग-अलग देश की करेंसी अलग-अलग होती है इसी तरह इंटरनेट में भी एक करेंसी होती है जिस  का इस्तेमाल Online Transection के लिए किया जाता है। 

उस करेंसी का नाम है Bitcoin है इसके बारे में आपने अवश्य ही सुना होगा क्योंकि Bitcoin आज कल काफी चर्चा में है आज के इस आर्टिकल में मैं आपको बताऊंगा कि Bitcoin क्या है इसका इस्तेमाल कैसे होता है और क्यों किया जाता है और इस करेंसी की वैल्यू कितनी होती है बिटकॉइन के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए आप इस ब्लॉग पोस्ट को लास्ट तक रीड की जिएगा चलिए सबसे पहले जानते हैं कि 

What is Bitcoin (बिटकॉइन) in Hindi

बिटकॉइन एक Virtual Currency है इसे Digital Currency भी कहा जा सकता है क्योंकि इससे Digital तरीके से उपयोग किया जाता है Bitcoin को Virtual Currency इसलिए कहा जाता है क्योंकि यह बाकी करेंसी से बिल्कुल अलग है बाकी Currency जैसे रुपया या डॉलर की तरह ना ही हम देख सकते हैं ना ही हम इसे पैसों की तरह छू सकते हैं। 

लेकिन फिर भी हम इसका इस्तेमाल करते हैं पैसों की तरह करते हैं लेन-देन में करते हैं Bitcoin को हम सिर्फ Online  Wallet में स्टोर कर सकते हैं। 

बिटकॉइन का आविष्कार  सतोशी नाकामोतो ने 2008 में किया था और इसे 2009 में ग्लोबल करेंसी के रूप में जारी किया गया था और तब से इसकी लोकप्रियता बढ़ती जा रही है बिटकॉइन एक decentralize  करेंसी है इसका मतलब यह है कि इसे कंट्रोल करने के लिए कोई भी बैंक या गवर्नमेंट अथॉरिटी नहीं है यानी कि कोई इस का मालिक नहीं है। 

Bitcoin का इस्तेमाल कैसे होता है ?

Bitcoin क्या है कैसे काम करता है और इसमें इन्वेस्टमेंट कैसे करे ?

बिटकॉइन का इस्तेमाल कोई भी कर सकता है जैसे हम सभी इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं और उसका भी कोई मालिक नहीं है ठीक उसी तरह बिटकॉइन भी है जिसके पास bitcoin होता है वह उससे भौतिक रूप से चीजें खरीदी नहीं सकता बल्कि बिटकॉइन को उपयोग ऑनलाइन ही किया जा सकता है। 

ऑनलाइन भुगतान के अलावा इसको दूसरे करेंसी में भी बदला जा सकता है अगर आपके पास बिटकॉइन है तो आप इसे अपनी कंट्री के करेंसी में बदल कर अपने बैंक Account में transfer कर सकते हैं। 

बिटकॉइन दुनिया की सबसे महंगी करेंसी बन गई है कंप्यूटर नेटवर्क के जरिए इस करेंसी से बिना किसी माध्यम से ट्रांजैक्शन किया जा सकता है वही यह डिटेल करेंसी को Digital Wallet में रखा जा सकता है Bitcoin को  crypto Currency भी कहा जाता है साधारण Currency की तरह ही बिटकॉइन को भी आसानी से भी खर्च किया जा सकता है। 

इसका उपयोग हम सामान खरीदने के लिए गैर सरकारी संगठनों को दान करने के लिए या उन्हें किसी और को भेजने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं बिटकॉइन को किसी भी संस्था द्वारा नियंत्रित नहीं किया जा सकता है  जिसका अर्थ है कि इसका इसके ऊपर सरकार या बैंक का कोई अधिकार नहीं है। 

इनका उपयोग किसी के द्वारा भी किया जा सकता है क्योंकि बिटकॉइन के व्यापार को रोका रोका नहीं जा सकता इसलिए कोई भी बैंक या सरकारी संस्था आपको इंटरनेट द्वारा किसी और को अपने बिटकॉइन को भेजने से नहीं रोक सकती लेकिन इसमें दुविधा यह भी है कि यदि आपके साथ कोई धोखा होता है

तो आप किसी पास इसके बारे में शिकायत दर्ज नहीं करा सकते  फिर भी दुनिया भर के बड़े बिजनेसमैन या बड़ी कंपनियां इस्तेमाल करती है आइए दोस्तों हम जानते हैं कि

बिटकॉइन इस्तेमाल कैसे होता है और क्यों किया जाता है ?

बिटकॉइन का इस्तेमाल हम Online Payment करने के लिए या किसी भी तरह का Transection करने के लिए कर सकते हैं Bitcoin P2P (peer to peer) नेटवर्क पर आधारित है जिसका मतलब है लोग एक दूसरे के साथ सीधे ही बिना किसी बैंक क्रेडिट कार्ड या भी किसी कंपनी के माध्यम से आसानी से ट्रांजैक्शन कर सकते हैं। 

आम डेबिट क्रेडिट भुगतान करने में लगभग 2 से 3% लेनदेन का चार्ज लगता है लेकिन बिटकॉइन में ऐसा कुछ नहीं होता है इस के लेनदेन में उसे कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं लगती इस वजह से भी Bitcoin लोकप्रिय होता जा रहा है इसके अलावा यह Secure और Fast है। 

जिससे लोग  बिटकॉइन स्वीकार करने के लिए प्रसारित हो रहे हैं आजकल बहुत से लोग को अपना रहे हैं जैसे ऑनलाइन Developer’s Intervenor और Non-profit Organisation आदि इसी वजह से Bitcoin का इस्तेमाल पूरी दुनिया में Online Payment किया जा रहा है। 

इसे किसी क्रेडिट कार्ड की तरह ही उसमें कोई क्रेडिट लिमिट नहीं होती ना ही कोई नगद लेकर घूमने के समस्या है यह एकदम सुरक्षित और एक तेज है और यह दुनिया में कहीं भी कारगर है और इसका इस्तेमाल करने की कोई सीमा नहीं है चलिए आप जानते हैं कि बिटकॉइन की क्या Value  है। 

बिटकॉइन Bitcoin की क्या वैल्यू है ?

Bitcoin का value कम या ज्यादा होती रहती है क्योंकि इस को कंट्रोल करने के लिए कोई अथॉरिटी नहीं है और इसलिए इसकी वैल्यू डिमांड के हिसाब से बदलती रहती है इसकी कीमत हर देश में अलग-अलग होती है क्योंकि इसका चलन विश्व बाजार में है इसलिए  इसकी कीमत हर दिन हर देश के इसके मांग के अनुसार होती है। 

 बिटकॉइन Bitcoin कैसे कमाए ?

आपके दिमाग में कहीं ना कहीं यह सवाल जरूर उठ रहा होगा कि आखिर बिटकॉइन पाया कैसे जा सकता है या इसके लिए क्या करना होगा जिसके पास के बिटकॉइन आ जाए इसका भी जवाब हम आपको बता देते हैं बिटकॉइन को हम दो तरीके से पा सकते हैं पहला तरीका यह है कि अगर आपके पास पैसा है आप सीधे देकर बिटकॉइन खरीद सकते हैं। 

अगर आपके पास इतने नहीं है फिर भी आपको बिटकॉइन लेना है तो इसका भी तरीका है अगर आप पूरा एक बिटकॉइन खरीद नहीं सकते तो प इसका छोटा यूनिट सतोशी खरीद सकते हैं जैसे एक रुपए में “100” पैसे होते हैं ठीक उसी तरह एक बिटकॉइन में “100000000” सतोशी होते हैं। 

तो आप चाहे तो बिटकॉइन के सबसे छोटे रकम satoshi खरीद कर दे धीरे एक यह भी ज्यादा जमा कर सकते हैं जब आपके पास ज्यादा बिटकॉइन हो जाए आप उसे बेचकर ज्यादा पैसे कमा सकते हैं

एक तरह से खरीद कर उसमें इन्वेस्ट कर सकते हैं भारत में दो बहुत मशहूर बिटकॉइन वेबसाइट है जहां से आप बिटकॉइन खरीद और बेच सकते हैं उन वेबसाइट का नाम है zebpay और wazirx 

 इन दोनों वेबसाइट से बिटकॉइन खरीद सकते हैं Bitcoin खरीदने के लिए आपको इनमें से किसी एक वेबसाइट का अपना अकाउंट बनाना होगा उसके बाद आपको कुछ डॉक्यूमेंट सबमिट करने होंगे

जैसे आधार कार्ड पैन कार्ड ड्राइविंग लाइसेंस वोटर आईडी फोन नंबर ईमेल और बैंक अकाउंट की डिटेल इत्यादि अकाउंट बनाने के बाद आप बिटकॉइन खरीद और बेच सकते हैं बिटकॉइन पाने का दूसरा  तरीका है। 

Bitcoin Mining क्या है ?

Bitcoin Mining आम भाषा में माइनिंग का मतलब  यह होता है खुदाई के द्वारा खनिजों को निकालना जैसे सोना कोयला आदि की माइनिंग क्योंकि बिटकॉइन का कोई भी भौतिक रूप नहीं है इसका माइनिंग नहीं की जा सकती इसलिए यहां पर माइनिंग का मतलब बिटकॉइन का निर्माण करने से है। 

जो कि कंप्यूटर पर ही संभव है अर्थात नई बिटकॉइन बनाने के तरीके Bitcoin Mining कहा जाता है बिटकॉइन की माइनिंग बिटकॉइन Minners करते हैं इसके लिए हाई स्पीड प्रोसेस और कंप्यूटर माइनिंग सॉफ्टवेयर की जरूरत होती है हम बिटकॉइन का इस्तेमाल सिर्फ ऑनलाइन पेमेंट करने के लिए करते हैं और जब कोई बिटकॉइन पेमेंट करते हैं करता है। 

उस ट्रांजैक्शन को वेरीफाई किया जाता है जो इन्हें वेरीफाई करते हैं उन्हें हम -miners  कहते हैं उन Miners  के पास हाई परफॉर्मेंस कंप्यूटर और बेहतर हार्डवेयर होता है जिसके जरिए वह ट्रांजैक्शन को फिर पाई करते हैं Minner  विशेष प्रकार का कंप्यूटर उपयोग करके विभिन्न तरीके से लेनदेन को पूरा करते हैं और नेटवर्क को सुरक्षित करते हैं। 

इस वेरिफिकेशन के बदले उन्हें कुछ बिटकॉइन इनाम के तौर पर मिलते हैं और इस तरीके से नए Bitcoin का मार्केट में आते हैं लेकिन ट्रांजैक्शन वेरीफाई करना  इतना आसान नहीं है इसमें बहुत सारे मैथमेटिकल कैलकुलेशन होते हैं उसे हल करना होता है जो कि बहुत ही कठिन होता है Bitcoin Mining कोई भी कर सकता है इसके लिए हाई स्पीड प्रोसेसर कंप्यूटर जरूरत पड़ती है। 

 

Bitcoin इस्तेमाल करने के फायेदे और नुक्सान ?

भारत में भारतीय रिजर्व बैंक लो लोगों को इस करेंसी में निवेश करने से रोक रहा है और पहले से ही इसमें किसी भी प्रकार की निवेश को गैरकानूनी बताया गया है लेकिन फिर भी लोग बड़ी संख्या में निवेश कर रहे हैं भारतीय रिजर्व बैंक ने 24 दिसंबर 2013 को बिटकॉइन जैसे वर्चुअल करेंसी के संबंध में कहा था

इन मुद्दों को लेकर लें दें में कोई आधिकारिक अनुमति नहीं दी गयी है और इसका लेनदेन करने में कई स्तर पर जोखिम भी है 1 फरवरी 2017 5 दिसंबर 2017 को रिजर्व बैंक ने उन्हें इसके बारे में सावधानी जारी की थी। 

Publisher Post Options

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.